क्या आप नहीं जानते लौंग के ये चमत्कारिक उपाय ( Clove Benefits in Hindi ) - Raambaanilaj.com

Wednesday, 26 July 2017

क्या आप नहीं जानते लौंग के ये चमत्कारिक उपाय ( Clove Benefits in Hindi )

लौंग के फायदे(Clove benefits)

दांतों में कई तरह के दर्द होते हैं जैसे मसूड़ों में पीड़ा, दांत में दर्द और मुंह में छाला आदि का होना। दांतों के दर्द में आप लौंग के तेल को रूई के जरिए दर्द वाली जगह पर लगा सकते हैं। इसके अलावा लौंग का तेल मुंह की गंदगी व बदबू को भी दूर करता है।
शरीर पर चोट लगने से घाव और खुजली होने लगती है। जिसकी वजह होती है संक्रमण। कभी किसी कीट व विषैले जीव के काटने से भी शरीर में संक्रमण लग सकता है। एैसे में लौंग का तेल लगाने से संक्रमण नहीं फैलता है।


टेंशन होने पर इंसान दिमागी रूप से बेचैन हो जाता है और वह बेवजह परेशान होता रहता है। जिसकी वजह से इंसान को नींद भी नहीं आ पाती है। लौंग के तेल का प्रयोग करने से आप इन सभी मानसिक रोगों से बच सकते हो।

लौंग पीसकर एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से उल्टी व जी मिचलाना बंद हो जाता है।

यदि कान में दर्द हो रहा हो तो तिल के तेल और लौंग के तेल को बराबर मात्रा में मिला लें और एक से दो बूंदे इसकी कान में टपकाएं। आपको कान दर्द से निजात मिलेगा।

दो Laung सेककर बारीक पीस लें। एक कप गर्म दूध में मिलाकर पिए। कुछ दिन में खांसी ठीक हो जाती है।

लौंग को गर्म कर पानी में घिसकर माथे पर लगाने से सिर दर्द गायब हो जाता है।

लौंग पेट में गैस होने पर भी बहुत फायदेमंद होती है, अगर आपकेे पेट में गैस (Acidity) है तो एक कप उबलते हुए पानी में 2 लौंग को पीसकर डालें और उस पानी को ठंडा होने के बाद पी लीजिए, इससे पेट की गैस में राहत मिलती है

उबलते हुए पानी में दो Laung डाल दें। गुनगुना रहने पर पिए। तेज प्यास या मुँह का सूखापन मिटता है।

इसे आग पर सेंककर मुंह में रखने से गले की सूजन व सूखे कफ का नाश होता है।

लौंग का पेस्‍ट बना कर त्‍वचा के कटे छिले स्‍थान पर लगाने से वह ठीक हो जाता है क्योंंकि लौंग त्‍वचा के बैक्टीरिया (Bacteria) का नाश करती है

खाना खाने के बाद रोजाना Lavang को मुँह में रखकर चूसने से मुँह से बदबू आना बंद हो जाती है। साँस में बदबू आती हो तो वो भी इससे मिटती है।

सिरदर्द (Headache) होने पर यदि हम लौंग के तेल की हल्के हाथो से मालिश करें तो सरदर्द में भी राहत मिलती है

Laung को पानी के साथ घिस कर ये पानी काटे हुए स्थान पर दिन में तीन चार बार लगाएं। आराम मिलता है।

लौंग में Eugenol Flavones, Isoflavones और Flavonoids केमिकल कंपाउड पाए जाते हैं। यह हड्डियों की सुरक्षा करते हैं और हड्डियों में पाए जाने वाले मिनरल्स को बचा कर रखते हैं। अगर Osteoporosis की बीमारी हो तो लौंग के सेवन से हड्डियों की मजबूती बनी रहती हैं।

No comments:

Post a Comment

Thanks for Comment.

Popular Posts

loading...