Fitkari (फिटकरी) यू ही नहीं होता इसका हर घर में उपयोग - Raambaanilaj.com

Saturday, 22 July 2017

Fitkari (फिटकरी) यू ही नहीं होता इसका हर घर में उपयोग

फिटकरी में कई प्रकार के एंटी-बैक्टीरियल गुण पाये जाते है इसलिए ही इसका उपयोग हमारे जीवन में हम बहुत समय पहले से करते आ रहें हैं। जानकारी के लिए आपको बता दें की फिटकरी दो प्रकार की होती है एक लाल फिटकरी और दूसरी सफ़ेद फिटकरी। हम अपने दैनिक जीवन में सफ़ेद फिटकरी का उपयोग सबसे ज्यादा करते है। कुछ घरों में सफ़ेद फिटकरी का उपयोग आफ्टर शेव के रूप में भी किया जाता है तो कुछ लोग इसका उपयोग पानी को साफ़ करने में भी करते है। आयुर्वेद में बताया गया है की फिटकरी से 23 प्रकार की समस्याएं दूर की जा सकती है।

पशु पक्षी आदि को लगी चोट में Fitkari फायदेमंद होती है। पतंग के मांझे से घायल पक्षी को लगी चोट फिटकरी घुले पानी से धोएँ। ये पानी उसे थोड़ा सा पिला दें। इससे पक्षी जल्दी ठीक हो जाएगा। इसी प्रकार पशु को लगी चोट भी ठीक हो सकती है। Fitkari (फिटकरी)के  फायदे,



गर्म पानी में फिटकरी और नमक मिलाकर गरारे व कुल्ला करने से गले की खराश , मुंह की बदबू आदि ठीक हो जाते है।


मसूड़ों से खून आता हो तो Fitkari घुले पानी के कुल्ला करने से ठीक होता है।



चेहरे की झुर्रियाँ मिटाने के लिए Fitkari के टुकड़े को पानी में डुबोकर चेहरे पर हल्के हाथ से मलें। सूखने पर सादा पानी से धो लें। कुछ ही दिन में झुर्रियां मिट जाएँगी।
यदि जहरीला कीड़ा या बिच्छू काट ले तो पानी में Fitkari का पाउडर डालकर गाढ़ा घोल बनाकर लगाने से आराम मिलता है।

दांत में दर्द हो तो फिटकरी और काली मिर्च बराबर मात्रा में पीस कर इसे लगाएं। इससे दर्द कम हो जाता है।


-------------------------------------------------------------------------------
इसे भी जरूर जाने:

-------------------------------------------------------------------------------



बवासीर में फिटकरी का पाउडर मक्खन में मिलाकर मस्सों पर लगाएं ,लाभ होगा। Fitkari मिले पानी से गुदा को भी चार पांच बार धोएँ। एक टब में Fitkari मिला हुआ गुनगुना पानी भर लें। इसमें बैठ कर सिकाई करने से बवासीर में आराम मिलता है। ये उपाय करने से खूनी बवासीर भी ठीक हो जाते है।FitakariIn fayed in Hindi

जिन लोगो को शरीर से ज्यादा पसीना आने की समस्या हो तो वो लोग नहाते समय पानी में फिटकरी को घोलकर नहाने से पसीना आना कम हो जाता है।

फिटकरी को नहाने के पानी में घोल कर प्रयोग करने से खुजली और शरीर से बदबू आना बंद होती है।FitakariBenefit


यदि चोट या खरोंच लगकर घाव हो गया हो और उससे खून बह रहा हो तो घाव को फिटकरी के पानी से धोने के बाद उस पर फिटकरी का चूर्ण बुरकने से खून बहना बंद हो जाता है।



डेढ़ ग्राम फिटकरी पाऊडर को फाँककर ऊपर से सादा अथवा हल्दीयुक्त दूध पीने से चोट-दर्द दूर होता है।


फिटकरी को तवे पर डालकर गर्म करके राख बना लें। इसे पीसकर घावों पर बुरकाएं इससे घाव ठीक हो जाएंगे। घावों को फिटकरी के घोल से धोएं व साफ करें।



2 ग्राम भुनी हुई फिटकरी, 2 ग्राम सिन्दूर और 4 ग्राम मुर्दासंग लेकर चूर्ण बना लें। 120 मिलीग्राम मोम और 30 ग्राम घी को मिलाकर धीमी आग पर पका लें। फिर नीचे उतारकर उसमें अन्य वस्तुओं का पिसा हुआ चूर्ण अच्छी तरह से मिला लें। इस तैयार मलहम को घाव पर लगाने से सभी प्रकार के घाव ठीक हो जाते हैं।


फिटकरी, सज्जीक्षार और मदार का दूध इन सबको मिलाकर और पीसकर लेप बना लें। इस लेप को घाव पर लगाने से जलन और दर्द दूर होता है।
यदि आपके चहरे पर झुर्रिया आ गई है तो आपके लिए फिटकरी का पानी बहुत उपयोगी रहेगा। इसके लिए आप फिटकरी के बड़े से टुकड़े को गीला कर के अपने चहरे पर हल्के से मलें और कुछ समय बाद में अपने चहरे को साफ़ पानी से धो लें। इससे आपके चेहरे पर झुर्रियां नहीं आ पाएंगी।

loading...
पनीर बनाने के लिए दूध को पिसी हुई Fitkari डालकर फाड़ें । इस प्रकार बना हुआ पनीर अधिक स्वादिष्ट व मुलायम बनता है।
भुनी हुई फिटकरी १० ग्राम, भुना हुआ तूतिया 5 ग्राम एवं कत्था १० ग्राम, इस अनुपात में कूट पीसकर मंजन बना लें। इस मंजन के नित्य इस्तेमाल करने से दाँतों की पीड़ा दूर होती है, और दाँत मजबूत तथा सुदृढ़ होते हैं।

सेविंग करने के बाद चेहरे पर फिटकरी लगाने से चेहरा मुलायम हो जाता है।त्वचा के लिए फिटकरी के ये फायदे नहीं जानते आप

सर्दियों के समय में पानी में ज्यादा काम करने से हाथों की उंगुलियों में सूजन या खुजली हो जाती है। इससे बचने के लिए थोड़े पानी में अंदाजन थोड़ी सी फिटकरी डालकर उबाल लें.इस पानी द्वारा उंगलियाँ धोने से सूजन और खुजली में काफी आराम मिलता है।फिटकरी के 5 फायदे, आप बिल्कुल नहीं जानते आप


दस्त और पेचिश की परेशानी से बचने के लिए 1-2 चुटकी भुनी हुई फिटकरी को गुलाबजल के साथ मिलाकर पीने से खूनी दस्त आना बंद हो जाते हैं।फिटकरी के चमत्कारी फायदे


फिटकरी 20 ग्राम और अफीम 3 ग्राम को पीसकर मिला लें। सुबह-शाम इस चूर्ण को दाल के बराबर पानी के साथ रोगी को पिलाएं इससे दस्तों में लाभ होगा। फिर तीन घंटे बाद ईसबगोल की भूसी के साथ दें तो पेचिश बंद हो जाएगी और खून का आना भी बंद हो जाएगा।fitkari ke fayde hindi me



एक लीटर पानी में 10 ग्राम फिटकरी का चूर्ण घोल लें. इस घोल से प्रतिदिन सिर धोने से सिर के जुएँ मर जाते हैं।जानें फिटकरी के कुछ खास फायदे


यदि आपके मुंह में बदबू आती है या आपके दांत में दर्द है तो फिटकरी आपके लिए बहुत उपयोगी है। असल में फिटकरी एक नेचुरल माउथ वाश है और दांत दर्द में इससे गार्गल करना बहुत लाभदायक होता है।

No comments:

Post a Comment

Thanks for Comment.

Popular Posts

loading...