सूखी और बलगम वाली खांसी काे जड से मिटाता है Ramban नुस्खा - Raambaanilaj.com

Friday, 24 November 2017

सूखी और बलगम वाली खांसी काे जड से मिटाता है Ramban नुस्खा

ramban
Cough कफ (बलगम) हमारे गले व फेफड़ों में जमने वाली एक श्लेष्मा होती है जो खांसी या खांसने के साथ बाहर आता है। यह फायदेमंद और नुकसानदायक दोनों है। हमारे दैनिक सांस लेने क्रिया के समय जो गन्दगी हमारे शरीर में जाती है। उसे यह अपने में चिपका लेता है जो सुबह के समय नहाते या मुंह धोते समय खांसने से बाहर निकल जाता है। कफ जल का अंश है जो दूषित पानी से पैदा होता है। Coughचाहे जैसी भी हो, सूखी हो तर हो बलगम वाली हो या फिर तेज़ दवाओ के सेवन के कारण छाती पर कफ जम गया हो तो अपनाने चाहिए ये घरेलु नुस्खे। जो बिलकुल सुरक्षित हैं।एलर्जी के लिए सरल घरेलु नुस्खे
cough medicine



#धूल-मिट्टी के संपर्क के कारण

#टीबी, अस्थमा, फेफड़ों की बीमारी जैसी किसी बड़ी बीमारी का होना

#एलर्जी (Allergies)

#मौसम में आया बदलाव dry cough medicine

#ज्यादा सर्दी होना

#वायरल इंफेक्शन(Viral infections)

#फ़्लू (Flu) 

#एसिड रिफ्लक्स : जी हाँ एसिड रिफ्लक्स को भी सूखी खाँसी का जनक माना गया है 
#किसी दवा का साइड इफेक्ट: हाई ब्लडप्रेशर की दवाओं के साइड इफेक्ट की वजह से भी सूखी खाँसी होती है
#तनाव (tension)  mucus cough
#सर्दी (cold)
*स्मोकिंग (Smoking)

1. सरसों के तेल में नमक मिलाकर मालिश करने से छाती में जमी हुई कफ (बलगम) की गांठें निकल जाती हैं।bronchitis
2. हल्दी : कफ (बलगम) जम जाने के कारण सांस लेने में छाती कांपती हो तो 1-2 बार कपड़े से छानकर गाय के मूत्र में थोड़ी-सी हल्दी मिलाकर पिलाना कफ (बलगम)-खांसी में फायदेमंद होता है। श्लेष्मा, रेशा गिरता हो तो आधा चम्मच हल्दी की फंकी गर्म दूध से सेवन करना चाहिए।

loading...
3.गर्म पानीCough (बलगम) के कारण सीने में घबराहट पैदा होती है तो गर्म पानी के साथ नमक घोलकर पिलाना चाहिए।
4. अदरक : अदरक को छीलकर मटर के बराबर उसका टुकड़ा मुख में रखकर चूसने से कफ (बलगम) आसानी से निकल आता है।
5. आंवला : आंवला सूखा और मुलहठी को अलग-अलग बारीक करके चूर्ण बना लें और मिलाकर रख लें। इसमें से एक चम्मच चूर्ण दिन में दो बार खाली पेट सुबह-शाम हफ्ते दो बार जरूर लें। इससे छाती में जमा हुआ सारा कफ (बलगम) बाहर आ जायेगा। dry cough
6. लौंगलगभग 3 ग्राम लौंग 100 मिलीलीटर पानी में उबालें। एक चौथाई रह जाने पर कम गर्म करके पी लें। इससे कफ निकल जाता है।
7. सोंठ : सोंठ, गिलोय, छोटी पीपल और जटामांसी को पीसकर बने काढ़े को पीने से कफ-ज्वर में लाभ होता है।

8. अंगूर : अंगूर खाने से फेफड़ों को शक्ति मिलती है। जुकाम, खांसी दूर होती है। कफ (बलगम) बाहर आ जाता है। अंगूर खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए।
9. तुलसी : कफ (बलगम) होने पर 50 मिलीलीटर तुलसी के पत्तों के रस में 5 चम्मच चीनी मिलाकर शर्बत बना लें। इसका एक छोटा चम्मच रोज पिलायें। इससे Cough (बलगम) निकल जायेगा। तुलसी के रस में बलगम को पतला करके निकालने का गुण है।
10. लहसुन : लहसुन को खाने से श्वासनलियों में इकट्ठा कफ आराम से बाहर निकल जाता है। इससे टी.बी. के रोग में भी फायदा होता है।
11. इलायची: इलायची के दाने, कालानमक और घी तथा शहद को एकत्रकर चाटने से कफ रोग मिटता है।

No comments:

Post a Comment

Thanks for Comment.

Popular Posts

loading...