Best Ayurvedic Tips to Boost Your Immunity In Winter , Hindi - Raambaanilaj.com

Wednesday, 1 November 2017

Best Ayurvedic Tips to Boost Your Immunity In Winter , Hindi

Winter आते ही हर किसी की तबियत खराब होनी शुरु हो जाती है। किसी को सर्दी लग जाती है तो किसी का गला खराब हो जाता है। सर्द मौसम में धूप ना निकलने की वजह से शरीर की Imunity गिरने लगती है, जिससे शरीर में बीमारियां होने लगती है।   

एलर्जी के लिए सरल घरेलु नुस्खे

Winter एलर्जी से खांसी, नाक-गला बंद होना, आंखे लाल होना और खुजली होना जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। वैसे आप ठंड से तो बच सकते हैं लेकिन एलर्जी लंबे समय तक आपको परेशान कर सकती है। पालतू पशुओं की रूसी, फफूंदी और धूल कण एलर्जी के मुख्‍य कारण हैं ।एलर्जी के कारणों को जानना कठिन होता है , परन्तु कुछ आयुर्वेदिक उपाय इसे दूर करने में कारगर हो सकते हैं. आप इन्हें अपनाएं और एलर्जी से निजात पाएं

1. नीम चढी गिलोय के डंठल को छोटे टुकड़ों में काटकर इसका रस हरिद्रा खंड चूर्ण के साथ 1.5 से तीन ग्राम नियमित प्रयोग पुरानी से पुरानी एलर्जी में रामबाण औषधि है.



2. आंवले से बने पदार्थो को सेवन जरूर करेǃ आंवले का मुरब्बा या च्यावनप्राश् को सेवन करे ये अापके Immunity Power को बढाती हैं। 



3. गुनगुने निम्बू पानी का प्रातःकाल नियमित प्रयोग शरीर सें विटामिन - सी की मात्रा की पूर्ति कर एलर्जी के कारण होने वाले नजला - जुखाम जैसे लक्षणों को दूर करता है.
4. आयुर्वेद के अनुसार कफ दोष को शांत करने के लिये गरम पानी का सेवन करना चाहिये। शरीर में जब कफ दोष प्रभावित हो जाता है तभी सर्दी-जुखाम होता है।
ब्‍लैक टी की जगह पर तुलसी या अदरक की हर्बल चाय बना कर पीने से काफी आराम मिलता है। 
5. अदरख , काली मिर्च , तुलसी के चार पत्ते , लौंग एवं मिश्री को मिलाकर बनायी गयी हर्बल चाय एलर्जी से निजात दिलाती है.

6. सतर्क रहें- धूम्रपान और अगरबत्ती के उपयोग से बचें। धूल कण को रोकने के लिए कमरे के तापमान का स्‍तर न्‍यूनतम बनाए रखें। घर के सभी स्‍थानों की सफाई करते रहें। घर का फालतू सामन हटा दें और बेसमेंट भी साफ रखें। 

The top 7 natural allergy fighters


loading...
7. प्राणायाम में कपालभाती का नियमित प्रयोग एलर्जी से मुक्ति का सरल उपाय है. कुछ सावधानियां जिन्हें अपनाकर आप एलर्जी से खुद को दूर रख सकते हैं : -

• घर में अधिक नमी न होने दें, इससे वायरस बढ़ने की आशंका बढ़ जाती है।
•  कुछ आधुनिक दवाओं जैसे : एस्पिरीन , निमासूलाइड आदि का सेवन सावधानी से करना
• धूम्रपान से बचें। धूम्रपान कर रहे व्यक्ति के समीप बैठना भी एलर्जी से प्रभावित होने वाले व्यक्ति में सांस की तकलीफ और खांसी को बढ़ा देता है। 
•. सफाई का रखें विशेष ध्‍यान- घर के पर्दे, कालीन, कंबल और स्‍वेटर नियमित रूप से साफ करें और उन्‍हें धूप में सुखाएं। सजावटी फूल कमरे के अंदर ना रखें और हीटर व ए.सी. की भी सफाई रखें।
• धूल , धुआं एवं फूलों के परागकण आदि के संपर्क से बचाव. • अत्यधिक ठंडी एवं गर्म चीजों के सेवन से बचना.     नाक और गले की एलर्जी के लक्षण और उपचार
• अचानक गर्म-सर्द से बचें यानी तुरंत गर्म वातावरण से निकल कर ठंडे में बाहर न जाएं।
• फूल-पौधों को कमरे की जगह बालकनी में रखें। 
• खटाई एवं अचार के नियमित सेवन से बचना. हल्दी से बनी आयुर्वेदिक 

No comments:

Post a Comment

Thanks for Comment.

Popular Posts

loading...