14 मई को सूर्य कर रहा है वृष राशि में प्रवेश, जानिए आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव

14 मई को सूर्य कर रहा है वृष राशि में प्रवेश, जानिए आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव14 मई को सूर्य कर रहा है वृष राशि में प्रवेश, जानिए आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव Image Source : INDIA TV

आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार 14 मई की शाम 5 बजकर 17 मिनट पर सूर्यदेव वृष राशि में प्रवेश करेंगे है और 14 जून की देर रात 11 बजकर 54 मिनट तक यहीं रहेंगे। नवग्रहों में सूर्य सर्वप्रमुख देवता हैं। सूर्यदेव को आत्मा का कारक माना गया है, यह पिता का प्रतिधिनित्व करते हैं। वृष उन छह राशियों मे से एक है जिनमे राहु, शनि, केतु या गुरु का गोचर महामारीका कारण बनता है, अब सूर्य के वृष राशि में इस गोचर से आने वाले लगभग 1 महीने के दौरान विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव पड़ेगा। 

सूर्य देव आपकी जन्मकुंडली के किस भाव में गोचर करेंगे और सूर्य देव के इस गोचर का शुभ सुनिश्चित करने के लिए और अशुभ फल से बचने के लिए आपको कौन-से उपाय करने चहिए।

मेष राशि

सूर्यदेव आपके पत्रिका के दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में दूसरा स्थान धन से संबंध रखता है। सूर्य के इस गोचर से आपको मेहनत के बल पर सफलता और धन की प्राप्ति होगी। आपके ज्ञान में बढ़ोतरी होगी, लेकिन इस बीच आपकी मनोदशा हर समय बदलती रहेगी। लिहाजा अगले 14 जून तक सूर्यदेव के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए  इस दौरान अतिरिक्त दान नही लेना चाहिए, आवश्यक दान ले सकते हैं।

राशिफल 14 मई: कुंभ राशि के जातकों को होगा अचानक धनलाभ, जानिए अन्य राशियों का हाल
 
वृष राशि
सूर्यदेव कुंडली के पहले स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में पहला स्थान  लग्न का, यानी आपका खुद का स्थान होता है। 14 जून तक इस स्थान पर सूर्यदेव के गोचर से आपको कई तरह के फायदे होंगे। आपके यश-सम्मान में बढ़ोतरी होगी और आपके प्रेम-संबंध मजबूत होंगे। आप धार्मिक कार्यों में रूचि लेंगे। आपका स्वास्थ्य भी बेहतर बना रहेगा। 14 जून तक सूर्यदेव के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए पैतृक घर में हैंडपंप लगवायें, लोगों के पानी पीने की व्यवस्था करें। 

मिथुन राशि
सूर्यदेव आपके जन्मपत्रिका के बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में बारहवें स्थान का संबंध शैय्या सुख से है, परन्तु इस स्थान का संबंध व्यय से भी है। अत: सूर्य के इस गोचर से 14 जून तक आपको शैय्या सुख तो मिलेगा, लेकिन आपके खर्चें भी बहुत हद तक बढ़ सकते हैं। इस दौरान सूर्यदेव के शुभ फलों की प्राप्ति के लिए घर का बरामदा खुला रखें घर मे सूरज की पर्याप्त रोशनी आने दीजिए। ये भी ध्यान रखिए कि इस बीच   झूठी गवाही ना दें, अन्यथा सूर्य का सुरक्षा कवच टूट जाएगा।

वास्तु टिप्स: दौड़ते हुए घोड़े की तस्वीर घर में लगाने से होगा धन लाभ

कर्क राशि
सूर्यदेव आपके जन्मकुंडली के ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में ग्यारहवें स्थान का संबंध आमदनी से है। सूर्य के इस गोचर से मेहनत के बल पर आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। अपने कार्यों को सफल बनाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। तो अगले 30 दिनों के दौरान सूर्य के शुभ फलों को सुनिश्चित करने के
लिए  किसी से किया हुआ वादा निभायें, वचन टूटते ही आपका प्रभामंडल भी बिखर जाएगा।

सिंह राशि
सूर्यदेव आपके जन्पत्रिका के दसवें घर में गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में दसवें स्थान का संबंध राज्य और पिता से है। सूर्य के इस गोचर के प्रभाव से आपको अपने करियर में सफलता अवश्य मिलेगी। लिहाजा 14 जून तक अपने करियर में सफलता सुनिश्चित करने के लिए काले व नीले कपड़े पहनने से परहेज करें और सर पर सफ़ेद टोपी पहने।

कन्या राशि
सूर्यदेव आपके कुंडली के नौवें स्थान पर गोचर करेंगे। इस स्थान पर सूर्यदेव के गोचर से आपको अपने कार्यों में भाग्य का पूरा-पूरा साथ मिलेगा। इस दौरान आपको अपने कार्यों में हर तरह से सफलता मिलेगी। लिहाजा अगले 30 दिनों तक अपने भाग्य का साथ बनाये रखने के लिए पैतृक संपत्ति या पुरखों की कोई संपत्ति ना बेचें। 
 
तुला राशि
सूर्यदेव आपके जन्मपत्रिका के आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में आठवें स्थान का संबंध हमारी आयु से है, यानि हमारे स्वास्थ्य से है। सूर्य के इस गोचर से 14 जून तक आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिये। समय पर हेल्दी खाना खाएं। प्रातः जल्दी उठकर योग-व्यायाम करना उचित रहेगा। 14 जून तक अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए और लंबी आयु की प्राप्ति के लिए बड़े भाई की सेवा करें। 

वृश्चिक राशि
सूर्यदेव आपके जन्मपत्रिका के सातवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में सातवें स्थान का संबंध जीवनसाथी से है। सूर्य के इस गोचर से 14 जून तक आपके दाम्पत्य संबंध मधुर बने रहेंगे, लेकिन साथ ही एक्स्ट्रा मैरिटल रिलेशन के अवसर भी सामने आ सकते हैं। जीवनसाथी के साथ अपने संबंधों को मधुर बनाये रखने के लिए और किसी भी तरह की अशुभ स्थिति से बचने के लिए अपने खाने मे नमक की मात्रा कम ही रखें तो अच्छा होगा। 

धनु राशि
सूर्यदेव आपके कुंडली के छठे स्थान पर गोचर करेंगे। कुंडली में छठे स्थान का संबंध मित्र से होता है। सूर्य के इस गोचर से आपके जीवन में मित्रों की वृद्धि होगी और जरूरत के वक्त आपको उनका पूरा सहयोग मिलेगा। तो 14 जून तक इस स्थिति का लाभ उठाने के लिए इस दौरान रात को सोते समय सिरहाने में पानी रखकर सोये या चांदी अपने पास
रखें। 
 
मकर राशि
सूर्यदेव आपकी जन्मपत्रिका के पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। सूर्यदेव के इस गोचर से विद्यार्थियों को विद्या का लाभ मिलने में थोड़ा अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। गुरु और जीवनसाथी के साथ भी आपके संबंध ठीक-ठाक रहेंगे। संतान सुख मिलेगा। इस दौरान सबके साथ अपने संबंधों को बेहतर बनाये रखने के लिए घर में रसोई पूर्व दिशा में अवॉइड करें, अगर पहले से है तो कम से कम इस महीने दूसरी दिशा की तरफ मुह करके खाना बनाने का इंतेजाम कर लीजिए।
 
कुंभ राशि
सूर्यदेव आपके पत्रिका के चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में चौथा स्थान जीवन में माता, भूमि-भवन और वाहन से संबंध रखता है। सूर्य के इस गोचर से आपको 14 जून तक भूमि, भवन और वाहन का लाभ मिलेगा। साथ ही माता का साथ भी बना रहेगा।  लिहाजा अगले 30 दिनों के दौरान जीवन में इन सब चीजों का लाभ पाने के लिए इस महीने घर में नियमित हवन करने की व्यवस्था करना ठीक रहेगा।
 
मीन राशि
सूर्यदेव आपके जन्मपत्रिका के तीसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में तीसरा स्थान भाई-बहन और अभिव्यक्ति से संबंध रखता है। सूर्य के इस गोचर से आपको अपने भाई-बहनों का साथ पाने के लिए थोड़ी कोशिशें करनी पड़ेगी। दूसरों के आगे खुलकर अपनी बात रखने में आपको संकोच महसूस हो सकता है। 



from India TV: lifestyle Feed https://ift.tt/2yRGFwr
via IFTTT

Post a comment

0 Comments