बुधवार को वृद्धि योग के साथ बन रहा है खास नक्षत्र, आज करें ये उपाय तो मिलेगी हर काम में सफलता

आज बुधवार, वृद्धि योग और पुष्य नक्षत्र के संयोग में शुभ फलों की प्राप्ति के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए । Image Source : INSTRAGRAM/ARNAV15HERE

आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि और बुधवार का दिन है।  आज जैन बंधुओं की श्रुति पंचमी है। श्रुति का शाब्दिक अर्थ है सुना हुआ। जैन समाज में इस दिन का विशेष महत्व है। कहते हैं इसी दिन पहली बार जैन धर्म का ग्रंथ लिखा गया था। आज देर रात 2 बजकर 19 मिनट तक वृद्धि योग रहेगा। जैसा कि इसका नाम ही है वृद्धि । इस योग में किये गए कार्यों में सदैव वृद्धि होती रहती है। लिहाजा यदि आप नया काम शुरू करने का सोच रहे हैं तो यह योग सबसे बढ़िया है। इस योग में किये गये काम में न तो कोई रुकावट आती है और न ही कोई झगड़ा होता है। साथ ही आज पुष्य नक्षत्र है। अलग-अलग वार को पड़ने से इसका अलग-अलग नाम करण किया जाता है। बता दूं कि- अगर गुरूवार को पुष्य नक्षत्र पड़ जाये तो गुर-पुष्य योग बनता है और आज पुष्य नक्षत्र और बुधवार का संयोग बन रहा है। लिहाजा आज बुध-पुष्य योग बन रहा है। इस योग के दौरान घर में नई वस्तुएं लाना अत्यंत शुभ माना जाता है। खरीददारी के लिए यह समय शुभ माना जाता है।

इस बीच आज रात 12 बजकर 14 मिनट पर चन्द्रमा और पुष्य नक्षत्र की युति होगी। चन्द्रमा और पुष्य नक्षत्र की ये युति बड़ी ही शुभ है।  इसके अलावा पुष्य का अर्थ होता है- पोषण करने वाला। आपको बता दूं कि पुष्य नक्षत्र की राशि कर्क है। साथ ही पुष्य नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह गाय के थन को माना जाता है। पुष्य नक्षत्र के स्वामी शनि देव हैं और इसका संबंध पीपल के पेड़ से बताया गया है। लिहाजा पुष्य नक्षत्र के दौरान जन्में लोगों को आज के दिन पीपल के पेड़ को नमस्कार करना चाहिए ।

आज के दिन श्रुति पंचमी, वृद्धि योग, बुध-पुष्य योग, पुष्य नक्षत्र और चन्द्र पुष्य युति की और अब बात करेंगे आज बुधवार, वृद्धि योग और पुष्य नक्षत्र के संयोग में शुभ फलों की प्राप्ति के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए । जानिए आचार्य इंदु प्रकास से इन उपायों के बारे में।

27 मई राशिफल: कुंभ राशि की महिलाओं का दिन होगा अच्छा, जानिए अन्य राशियों का हाल

अगर मकान या किसी अन्य जमीन को लेकर आपका किसी से वाद-विवाद चल रहा है, तो इस सिलसिले में अपना पक्ष मजबूत करने के लिये आज के दिन पुष्य नक्षत्र के दौरान आपको नीले या काले रंग के आसन पर बैठकर या फिर नीले या काले रंग के कपड़े पहनकर इस मंत्र का जाप करना चाहिए। मंत्र है-‘ऊँ शं यो देवीरभिष्ट्य आपो भवन्तु पीतये, शं योरभि स्रवन्तु नः।' ये अथर्ववेद का दुर्गति निवारण का मंत्र है। ये बहुत ही प्रभावशाली है। लिहाजा आज के दिन इस विशेष मंत्र का जप करने से आपको मकान या किसी जमीन से संबंधित वाद-विवाद में जीत हासिल होगी। 

अगर आप अपने किसी राजनीतिक कार्य में सफलता पाना चाहते हैं या राजनीति में अपने विरोधी से आगे निकलना चाहते हैं तो आज के दिन आपको पीपल के पाँच वृक्ष लगाने का संकल्प करना चाहिए। ज्यों ज्यों पीपल के वृक्ष बढ़ेंगे त्यों त्यों आपकी राजनीति चमकेगी और आप अपने विरोधियों से आगे निकलने में कामयाब रहेंगे। 

Vastu Tips: किचन में लगाएं इस तरह की तस्वीर, कभी नहीं होगी धन-धान्य की कमी

यदि आप अपनी प्रोफेशनल जिदंगी में सफलता पाना चाहते है तो आज आपको 96 चौव्वा कच्चे सूत में ‘ॐ नमो भगवते ब्रह्म देवाय’ मंत्र का जाप 7 बार जप करके पीपल के

पेड़ को समर्पित करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आप अपनी प्रोफेशनल
लाइफ में सफल होंगे। 

अगर आपको छोटी-छोटी बातों में जल्दी से गुस्सा आ जाता है। जिससे आपका बना बनाया हुआ कार्य बिगड़ जाता है, तो इससे बचने के लिए आज के दिन आपको भगवान गणेश के चरणों में सफ़ेद पुष्प अर्पित करें। अगर सफ़ेद पुष्प न मिल पाये तो अपने मन में ये भाव रखें की भगवान गणपति के पैरों में सफेद पुष्प अर्पित कर रहे हैं।  आज के दिन ऐसा करने से आप अपने क्रोध पर निश्चित ही काबू पा लेंगे। 

अगर आप जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पाना चाहते हैं तो आज के दिन पुष्य नक्षत्र के दौरान आपको स्नान आदि के बाद पीपल के वृक्ष या उसकी तस्वीर के सामने खड़े होकर दोनों हाथ जोड़कर प्रणाम करना चाहिए। साथ ही शनि के मंत्र का जाप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है- ‘शं ह्रीं शं शनैश्चराय नमः’ आज के दिन ऐसा करने से जीवन के हर क्षेत्र में आपको सफलता ही सफलता मिलेगी।

अगर आपके पारिवारिक जीवन में कोई परेशानी चल रही हैं और आप उन परेशानियों से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो इसके लिये आज रात को सोते समय अपने सिरहाने पर 5 बादाम रखकर सोएं और सुबह उठकर उन्हें अपने पास ही रख लें और जब मौका मिले किसी मंदिर में दान कर दें। आज के दिन ऐसा करने से आपके पारिवारिक जीवन में चल रही परेशानियों से जल्द ही छुटकारा मिलेगा। 

अगर आपके कार्य बार-बार रुक जाते हैं, और पूरा होने में कई तरह की कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है तो उस बिगड़े कामों को बनाने के लिए आज बुधवार के दिन आपको
माता दुर्गा के इस मंत्र का 21 बार जप करना चाहिए| मंत्र इस प्रकार है-‘सर्व बाधा विनिर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वितह, मनुष्यों मत प्रसादेन भविष्यति न संशयः’ आज के दिन इस मंत्र का 21 बार जप करने से आपके रुके कार्य पूर्ण होंगे और कार्यों को पूरा करने में आपको किसी प्रकार की कठिनाईयों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

अगर आपका बिजनेस पार्टनर कुछ बहक गया है या वह आपके बिजनेस में कुछ गड़बड़ कर रहा है तो इससे बचने के लिए आज के दिन आपको दो सूखी लाल मिर्च के लेकर अपने ऊपर से सात बार उतार कर जलती आग मे डाल देने चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से बिजनेस पार्टनर का व्यवहार आपके प्रति सामान्य हो जाएगा। 

अगर आपका कोई शत्रु है और आप उसे पटखनी देना चाहते हैं, तो आज के दिन चन्दन की माला पहनें। अगर ये संभव न हो तो आज के दिन पुष्य नक्षत्र के दौरान चन्दन को
घिसकर, उससे अपने मस्तक पर टीका करें। आज के दिन ऐसा करने से आप अपने
शत्रु को पटखनी देने में कामयाब होंगे। 

अगर आप अपने वैवाहिक जीवन को मिठास से भर देना चाहते हैं, तो आज के दिन माता दुर्गा की पूजा करिये रोली में थोड़ा-सा घी मिलाकर माता के मस्तक पर तिलक लगाएं
और उनके सामने घी का दीपक भी जलाएं। आज के दिन ऐसा करने से आपका वैवाहिक जीवन मिठास से भरा रहेगा। 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/3gnLEWx
via IFTTT

Post a comment

0 Comments