शतभिषा नक्षत्र के साथ बन रहे हैं 2 शुभ योग, जानिए कौन से उपाय देंगे शुभता का वरदान

शतभिषा नक्षत्र  के साथ बन रहे हैं 2 शुभ योग, जानिए कौन से उपाय देंगे शुभता का वरदान Image Source : INSTAGRAM/GUJJUCHHOKRO

आज आषाढ़ कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि और शुक्रवार का दिन है। सप्तमी तिथि आज रात 10 बजकर 53 मिनट तक रहेगी।  साथ ही सुबह 10 बजकर 28 मिनट से शुरू होकर कल दोपहर पहले 11 बजकर 2 मिनट तक प्रीति योग रहेगा। प्रीति योग का अर्थ है- प्रेम| ये योग प्रेम का विस्तार करने वाला माना जाता है। अगर आपका कोई अपना आपसे रूठ गया हो, आपको किसी के साथ समझौता करना हो या आपके प्रेम-विवाह में किसी प्रकार की परेशानी चल रही है या फिर आपको किसी के साथ अपने प्रेम का रिश्ता आगे बढ़ाना हो, तो आज का दिन बहुत ही अच्छा है। इस योग में किये गये कार्य से मान-सम्मान की प्राप्ति भी होती है। और आज शाम 6 बजकर 49 मिनट तक रवि योग रहेगा। रवि योग के दौरान किये गये कार्यों में पूर्ण रूप से सफलता मिलाती है। 

 
इसके आलावा आज शतभिषा नक्षत्र रहेगा शतभिषा नक्षत्र आज शाम 6 बजकर 49 मिनट तक रहेगा। शतभिषा का अर्थ होता है- सौ चिकित्सक। ये नक्षत्र अपने आप में बहुत-सी वस्तुओं को समा लेने की क्षमता रखता हैं। इस नक्षत्र में नामकरण, मुण्डन, कोई नया सामान खरीदना और विद्या आरंभ करना बेहद ही शुभ माना जाता है। लेकिन आज सुबह 10 बजकर 3 मिनट तक पृथ्वी लोक की भद्रा रहेगी। लिहाजा 10 बजकर 3 मिनट के बाद ही कोई शुभ कार्य करें तो अच्छा रहेगा। क्योंकि पृथ्वी लोक की भद्रा के दौरान भद्रा का मुख पृथ्वी के ठीक सामने होता है। इसलिए इस दौरान विवाह, मुण्डन, गृह-प्रवेश, यज्ञोपवित, नया बिजनेस शुरू करना, किसी शुभ कार्य के लिये यात्रा नहीं करने चाहिए। इसके आलावा अशुभ भद्रा किसी पर मुकदमा करने के लिये, शत्रु पक्ष से मुकाबले के लिये, राजनीतिक कार्य़ के लिये, सीमा पर युद्ध के लिये, ऑप्रेशन के लिये, अग्नि से संबंधित कार्य, शस्त्र आदि के प्रयोग के लिये, पशु संबंधी कार्यों के लिये, दाम्पत्य संबंधों की ऊष्मा को बनाये रखने के लिये और तंत्र-मंत्र के प्रयोग के लिये बड़ी ही प्रशस्त मानी जाती है।

भद्रा से पहले हम बात कर रहे थे शतभिषा नक्षत्र के बारे में आईये शतभिषा नक्षत्र में बारे में कुछ और चर्चा कर लेते है- सत्ताईस नक्षत्रों की श्रेणी में शतभिषा 24वां नक्षत्र है। शतभिषा नक्षत्र के स्वामी- राहु है, जो कि एक छाया ग्रह है और इसकी राशि कुंभ है, यानि इसके चारों चरण कुंभ राशि में ही आते हैं। शतभिषा नक्षत्र के प्रबल प्रभाव में आने वाले जातक साहसी, सात्विक जीवन जीने वाले, सदाचारी, धार्मिक, चतुर, रहस्यमयी और आत्मविश्वास से भरपूर होते हैं। इसके अलावा शतभिषा नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह खाली वृत्त या वलाकार आकृति को माना जाता है, जबकि पेड़-पौधों में इसका संबंध कदंब के पेड़ से बताया गया है। लिहाजा जिन लोगों का जन्म शतभिषा नक्षत्र में हुआ है या जिनकी राशि कुंभ है, उन लोगों को आज के

दिन शतभिषा नक्षत्र के दौरान कदंब के पेड़ की उपासना करनी चाहिए। अगर आपको कदंब का पेड़ न मिले तो अपने मन में ही हरे भरे कदंब की आकृति का ध्यान करें। साथ ही कदंब के पेड़, उसकी लकड़ी या उससे जुड़ी किसी भी अन्य चीज़ को आज के दिन नुकसान नहीं पहुँचाना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से जीवन में आपकी तरक्की सुनिश्चित होगी। 

आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए आज किये जाने वाले राशिवार उपायों की जिसे करके आप अपने जीवन में चल रही परेशानियों से छुटकारा पा सकते है, कोरोना के वजह से व्यापार के धीमी गति को बढ़ा सकते है, अपने दाम्पत्य जीवन में खुशियाँ ला सकते है। लेकिन यहां एक महत्वपूर्ण बात बता दूं कि- आज की ग्रह और नक्षत्र की स्थिति के अनुसार जिस राशि के लिए जो उपाय बताये जायेंगे उस राशि वालों के लिए वह उपाय विशेष फलदायी है, लेकिन बाकी राशि वाले लोग भी ये उपाय करके लाभ उठा सकते है।

मेष राशि
अगर आप अपने विचारों को मजबूत करना चाहते हैं, आप चाहते हैं कि लोग आपकी बातों को ध्यान से सुनें, तो आज के दिन आपको चांदी का छोटा-सा हाथी लाकर घर में रखना चाहिए, लेकिन अगर आप चांदी का हाथी ना ला पाएं, तो मिट्टी से बना हाथी भी घर में लाकर रख सकते हैं। आज के दिन ऐसा करने से आपके विचारों में मजबूती आयेगी और लोग आपकी बातों को ध्यान से सुनेंगे।

भारत की कुंडली कोरोना को लेकर क्या कहती है?, जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से 

वृष राशि
अगर आपके बिजनेस में लगातार हानि हो रही है और आपको मनचाहा लाभ नहीं मिल पा रहा है, तो शतभिषा नक्षत्र में राहु के इस मंत्र का 21 बार जप करें और मंत्र जप के बाद राहु का नाम लेकर, एक चंदन की गोली को सफेद कपड़े में बांधकर, अपने ऑफिस की तिजोरी में रख दें। मंत्र है-‘ऊँ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:’
आज के दिन ऐसा करने से कोरोना की वजह से व्यापार की गति रुकी पड़ी थी अचाकन ही बढ़ने लगेगी।

राशिफल 12 जून: सिंह राशि के जातकों को बिजनेस में मिलेगा लाभ, वहीं ये राशियों रहें सतर्क
 
मिथुन राशि

अगर आप चाहते हैं कि आपके घर की सुख-समृद्धि हमेशा बनी रहे और आपके घर को किसी की बुरी नजर न लगे, तो इसके लिये शतभिषा नक्षत्र में किसी पंसारी की दुकान से या कदंब के पेड़ की एक टहनी लाकर, उसे अपने घर के उत्तर-पूर्व कोने में रख दें और उसकी नियमित रूप से 27 दिन तक पूजा करें। 27वें दिन उस टहनी को किसी मन्दिर में जाकर कच्ची मिट्टी या किसी गमले में रोपित कर दें और उसमें जल डालें। आज के दिन ऐसा करने से आपके घर की सुख-समृद्धि हमेशा बनी रहेगी। 

कर्क राशि
अगर आप अपने व्यक्तित्व को अत्यंत आकर्षक और मजबूत बनाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको मंदिर में कच्चा, जटा वाला नारियल दान करना चाहिए। ........ आज के दिन ऐसा करने से आपका व्यक्तित्व अत्यंत आकर्षक और मजबूत होगा। 

सिंह राशि
अगर आप अपनी स्मरण शक्ति को तेज करना चाहते हैं, तो आज रात को सोते समय अपने सिरहाने चंदन का टुकड़ा रख कर सोएं और सुबह उठकर उस चंदन के टुकड़े को किसी धार्मिक स्थल या मंदिर में दान कर दें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी स्मरण शक्ति बढ़ेगी।

कन्या राशि

अगर आप अपने बच्चे के अंदर दूसरे लोगों की मदद करने का भाव लाना चाहते हैं, तो आज के दिन शतभिषा नक्षत्र के दौरान आपको राहु के मंत्र का 11 बार जप करना चाहिए और जप करते समय अगर संभव हो तो अपने बच्चे को साथ में ही बिठाएं। मंत्र है-ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:। आज के दिन ऐसा करने से आपके बच्चे के अंदर दूसरे लोगों की मदद करने का भाव आयेगा।

तुला राशि
अगर आप सामाजिक क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं, तो आज के दिन स्नान आदि के बाद अपने ईष्टदेव को प्रणाम करें और अपने घर के मंदिर में चंदन की खुशबू वाली धूपबत्ती जलाएं| आज के दिन ऐसा करने से सामाजिक क्षेत्र में आपकी अच्छी पहचान बनेगी। 

वृश्चिक राशि
अगर आपके जीवनसाथी का मन भटक गया है, जिसके कारण आपके रिश्तों की ऊष्मा कम हो गई है, तो इसके लिए शतभिषा नक्षत्र में एक चन्दन की गोली लें और मन-ही-मन यह प्रार्थना करते हुए कि आपका रिश्ता फिर से पहले जैसा हो जाये, उस चन्दन की गोली की विधि-विधान से पूजा करें। बाद में उस चन्दन की गोली को अपने गले में धारण कर लें और संभव हो तो कुछ मिनट के लिये ही सही, अपने जीवनसाथी को भी वही चन्दन की गोली पहनने के लिये कहें। आज के दिन ऐसा करने से आपके दाम्पत्य जीवन में खुशियां ही खुशियां आयेंगी। 

धनु राशि
अगर लाख कोशिशों के बाद भी नौकरी में आपका प्रमोशन नहीं हो रहा है या आपको मनपसंद नौकरी नहीं मिल पा रही है तो शतभिषा नक्षत्र में नहा-धोकर मां सरस्वती की पूजा करें और दोनों हाथों में सफेद फूल लेकर देवी मां को अर्पित करें। साथ ही देवी के इस मंत्र का 51 बार जप करें। मंत्र है-‘ऊँ ऐं सरस्वत्यै नम:’। आज के दिन ऐसा करने से आपको जल्द ही अपने मन-मुताबिक नौकरी मिलेगी। 

मकर राशि
अगर आप अपने जीवन में हर तरह के सुख-साधन पाना चाहते हैं और अपने आसपास सब कुछ आनंदमय देखना चाहते हैं, तो आज के दिन शतभिषा नक्षत्र के दौरान मंदिर में सिंघाड़े का आटा दान करें। आज के दिन ऐसा करने से आपको जीवन में हर तरह के सुख-साधनों की प्राप्ति होगी और आपके आसपास सब कुछ आनंदमय बना रहेगा। 

कुंभ राशि
अगर आप नई भाषाएँ सिखना चाहते हैं या सीखने की क्षमता में वृद्धि करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको कदंब के पेड़ की उपासना करनी चाहिए और हाथ जोड़कर प्रणाम करना चाहिए। अगर आपको कहीं आसपास कदंब का पेड़ ना मिले, तो उसकी फोटो देखकर प्रणाम करें। आज के दिन ऐसा करने से आपके सीखने की क्षमता में वृद्धि होगी और आप नई भाषाएँ भी आसानी से सीख पायेंगे। 

मीन राशि
अगर आप अपनी बात को दूसरों के सामने कहने में हिचकते हैं या दूसरे के सामने खुलकर अपनी बात नहीं कह पाते हैं, तो आज के दिन शतभिषा नक्षत्र के दौरान मंदिर में जौ का दान करें। साथ ही राहु स्तुति का 11 बार पाठ करें। राहु स्तुति इस प्रकार है-    अर्धकायं महावीर्यं चन्द्रादित्य विमर्दनम् ।
सिहिंका गर्भ सम्भूतं तं राहुं प्रणमाम्यहम ।।
आज के दिन ये उपाय करने से आपकी हिचकिचाहट दूर होगी और आप दूसरों के सामने खुलकर अपनी बात रख पायेंगे। 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/2MSDSq6
via IFTTT

Post a comment

0 Comments