नग्न आंखों से भूल कर भी न देखें सूर्य ग्रहण, हो सकता है भारी नुकसान, जानें देखने का सही तरीका

Solar Eclipse - सूर्यग्रहण  Image Source : TWITTER/XIONS JAWLINE

साल 2020 का पहला सूर्यग्रहण 21 जून को लग रहा है। ये सूर्यग्रहण वलयाकार होगा। इस खगोलीय घटना का नजारा भारत सहित अन्य देशों जैसे- नेपाल, पाकिस्तान, सऊदी अरब, यूऐई, एथोपिया और कोंगों में देखने को मिलेगा। भारत के कुछ शहरों में इस वलयाकार सूर्यग्रहण का अद्भुत नजारा देखा जा सकता है। ये शहर हैं देहरादून, सिरसा और टिहरी। इन चुनिंदा शहरों को छोड़कर भारत के बाकी हिस्सों में आंशिक सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा। इस खूबसूरत खगोलीय घटना को देखने के लिए हर कोई उत्साहित है। हालांकि इस शानदार नजारे को नग्न आंखों से देखना आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है। जानिए सूर्यग्रहण का समय, नग्न आंखों से देखना से होने वाले नुकसान। साथ ही लेख में हम आपको ये भी बताएंगे कि कैसे इस खूबसूरत नजारे का आनंद ले सकते हैं ताकि आंखों पर इसका बुरा प्रभाव न पड़ें। 

इसी महीने लग रहा है साल का पहला सूर्य ग्रहण, भारत में किस समय दिखेगा, जानिए सूतक का समय भी

सूर्य ग्रहण का समय

रविवार, 21 जून को सूर्य ग्रहण सुबह 10 बजकर 13 मिनट से शुरू हो जाएगा। दोपहर 12 बजकर 2 मिनट पर ग्रहण चरम पर होगा ग्रहण का मोक्ष काल 3 बजकर 5 मिनट तक रहेगा।

नग्न आखों से कतई न देखें सूर्यग्रहण

वैसे तो नग्न आंखों से सूरज को देखने की सलाह कभी नहीं दी जाती है। लेकिन जिस वक्त सूर्यग्रहण की स्थिति हो तो नग्न आखों से देखना बहुत खतरनाक होता है। सूर्य की अल्ट्रावायलट किरणें आपकी आंखों पर प्रभाव डाल सकती हैं। इसके अलावा आप चश्मे या फिल्म का भी प्रयोग न करें। यह भी आपकी आखों को सुरक्षित रखने में अपर्याप्त होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार अगर लोग सीधे सूरज को देखेंगे तो आंखों में मौजूद लेंस सूरज की रोशनी को रेटिना पर फोकस कर देगा। ये रोशनी इतनी तेज होती है कि रेटिना को डैमेज भी कर सकती है।  

सोलर फिल्टर्स का करें इस्तेमाल 
ग्रहण को देखने के लिए स्पेशल सोलर फिल्टर्स का इस्तेमाल करना चाहिए। ये फिल्टर्स आपको आसानी से बाजार से मिल जाएंगे। इसके अलावा एक्लिप्स ग्लास या सोलर व्यूअर्स आते हैं इनका इस्तेमाल भी सूर्य ग्रहण देखने के लिए कर सकते हैं। आप तारामंडल जाकर भी इस खगोलीय घटना का आनंद उठा सकते हैं।  

इन बातों का रखें खास ख्याल

  • सोलर फिल्टर्स या एक्लिप्स ग्लास का इस्तेमाल करते हैं तो भी फिल्टर पर लिखे निर्देशों को अच्छे से पढ़ें और उसके बाद ही उनका इस्तेमाल करें। 
  • बच्चों को ग्रहण दिखाते वक्त विशेष सावधानी बरतें। 
  • कैमरा, टेलिस्कोप या दूरबीन से भी ग्रहण के वक्त सूर्य को सीधे बिल्कुल न देखें। 
  • सोलर फिल्टर से ग्रहण देखने से पहले फिल्टर को चेक कर लें। अगर उस पर स्क्रैच हो या वह डैमेज्ड हो तो उसे यूज न करें।

 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/37J5ebS
via IFTTT

Post a comment

0 Comments