बच्चे की असफलता पर पेरेंट न खोएं होश, यूं जगाएं बच्चे में फिर से जोश

Students - विद्यार्थी  Image Source : TWITTER/CORE ALPHA

यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं दोनों का रिजल्ट आउट हो गया है। इस दिन का विद्यार्थी कई दिनों  से इंतजार कर रहे थे। ये वही दिन है जिस दिन बच्चों को उनकी मेहनत का परिणाम मिलता है। ये दिन कुछ बच्चों के लिए खुशखबरी लेकर आया तो कुछ बच्चे कम नंबर होने या फिर फेल होने की वजह से परेशान हैं। यहां तक कि कुछ बच्चे गलत कदम भी उठा लेते हैं। ऐसे में बच्चों के माता- पिता को बच्चों की हौसला अफजाई करनी चाहिए। ताकि वो बिल्कुल भी निराश न हो और जिंदगी में आगे बढ़ें। जानिए इस मौके पर माता-पिता को किस तरह से बच्चों का मनोबल बढ़ाना चाहिए। 

24 घंटे मनुष्य के साथ ही चलता है उसका ये शत्रु, थोड़ी सी भी दे दी हवा तो सब हो जाएगा खत्म

बच्चों को न डांटे

कई बार कम नंबर आने का डर या फिर फेल होने की वजह से बच्चों के मन में गलत विचार आने लगते हैं। बच्चों को अंदर ही अंदर ये डर कचोटता रहता है कि वो अब लोगों को कैसे फेस करें। ऐसे में माता-पिता को चाहिए कि वो उन्हें बिल्कुल भी न डांटे।

हौसला अफजाई करें
मुश्किल वक्त में अगर कोई आपका साथ दे दे तो व्यक्ति अपने मन को आसानी से समझा लेता है। अगर बोर्ड परीक्षा में किसी बच्चे के कम नंबर आए हैं तो उसके मन की बात को समझना चाहिए। उसके मन में किस तरह के विचार आ रहे हैं उन्हें जानना चाहिए। इसके बाद उनसे ऐसी बाते करें जिससे उनका मन शांत हो। साथ ही आगे बढ़ने की सीख देते हुए हौसला अफजाई करें। 

बच्चे के साथ समय बिताएं
नंबर कम आना या फिर फेल हो जाना किसी भी बच्चे के लिए तकलीफ दायक होता है। इसलिए इस दिन बच्चों के साथ माता-पिता को सबसे ज्यादा वक्त बिताना चाहिए। ऐसा करके आप उन्हें किसी भी गलत कदम को उठाने से रोक पाएंगे। साथ ही उनकी मनोदशा समझने का आपको समय मिलेगा। 

आगे बढ़ने की ओर प्रोत्साहित करें
बच्चों का दिल बहुत कोमल होता है। नंबर कम आना और फेल होना उनके लिए उतना ही तकलीफ भरा होता है जितना की आपके लिए। ऐसे में अगर आप उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित नहीं करेंगे तो उनका हौसला टूट जाएगा। 

 

 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/2YCSvVh
via IFTTT

Post a comment

0 Comments