वास्तु टिप्स: कभी भी दीपक, मोमबत्ती या माचिस की तीलियां इस तरह न बुझाएं, जानें कारण

वास्तु टिप्स: कभी भी दिया, मोमबत्ती या माचिस की तीलियां इस तरह न बुझाएं, जानें कारण Image Source : INSTRAGRAM/PHOTOGRAPHY_BOY_99

वास्तु शास्त्र में आज आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए अग्नि के बारे में।  प्रत्येक दिशा का संबंध किसी न किसी तत्व से अवश्य होता है। अग्नि का संबंध दक्षिण-पूर्व, यानी आग्नेय कोण से है। अग्नि से संबंधित सभी चीज़ें हमें इसी दिशा में रखनी चाहिए। 

हमारा शरीर पंचतत्वों से मिलकर बना है और इन पंचत्तवों- जल, वायु, आकाश, धरती में से एक अग्नि भी है। कहते हैं अग्नि इन पांचों तत्वों में से सबसे कम मात्रा में पाई जाती है। लेकिन अग्नि हमारे पाचन तंत्र से जुड़ी हुई है। 

चंद्र ग्रहण 2020: जानिए सूतक काल का समय, साथ ही जानें ग्रहण के समय किन-किन बातों का रखें ख्याल

सूर्य भी अग्नि है और इसी अग्नि से यह पूरा संसार रोशन होता है। अग्नि से जुड़ी इतनी सारी बातें हमने इसीलिए बताई क्योंकि अग्नि का हमारे जीवन मे बहुत महत्व है। हमें कभी भी अग्नि का अपमान नहीं करना चाहिए। अग्नि को देवताओं का स्थान दिया गया है। कई बार हम दीए, मोमबत्ती या माचिस की तीलियां को फूंक मारकर बुझाते हैं जो कि अनुचित है। कभी भी इस तरह से अग्नि को नहीं बुझाना चाहिए और पैरों के नीचे मसलकर तो माचिस की तीली को कभी भी नहीं बुझाना चाहिए। 

वास्तु शास्त्र: जानिए घर में ताजे सुगंधित फूल रखना क्यों माना जाता है अच्छा 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/3ePvio8
via IFTTT

Post a comment

0 Comments