ब्रॉडबैंड कनेक्शन, एक स्मार्टफोन, अच्छे कम्युनिकेशन स्किल और कंप्यूटर चलाने की क्षमता से मिल सकती है जॉब

महिलाएं किसी भी संस्थान की एचआर गतिविधियों का महत्वपूर्ण हिस्सा होती हैं। रोजमर्रा की जिंदगी में भी हम पाते हैं कि महिलाएं रिलेशनशिप बिल्डिंग और आत्मविश्वास बढ़ाने में पुरुषों से बेहतर हो सकती हैं। इसलिए इसमें आश्चर्य नहीं कि जब सही काम के लिए सही व्यक्ति की तलाश की बात होती है तो महिलाएं बेहतर प्रदर्शन करती हैं। पेशेवर या इंडस्ट्री के अर्थों में इस काम को रिक्रूटमेंट, टैलेंट अधिग्रहण, सोर्सिंग या हेड हंटिंग कहते हैं। इन सबके लिए कंसल्टेंसी या रिक्रूटमेंट फर्म सेटअप करना रोमांचक अवसर हो सकता है।


आपके क्लाइंट बेस पर निर्भर करेगी

इसके लिए ब्रॉडबैंड कनेक्शन, एक स्मार्टफोन, अच्छा कम्युनिकेशनल स्किल और रिज्यूमे के अच्छे स्रोत की जरूरत होती है। पहली दो जरूरतें आसानी से पूरी हो जाती हैं। स्पीकिंग इंग्लिश, हिन्दी या अन्य किसी भाषा की जरूरत आपके क्लाइंट बेस पर निर्भर करेगी। रिज्यूमे के स्रोत अलग-अलग और काफी विविध होते हैं। इनमें लाखों सीवी वाले बड़े जॉब पोर्टल से लेकर विशेषज्ञता वाले प्रोफेशनल की सीवी रखने वाले स्रोत भी शामिल होते हैं।

विज्ञापन डाला जा सकता है

कुछ पोर्टल भी हैं जो प्रोफेशनल डेटा सहित विस्तृत रिज्यूमे उपलब्ध कराते हैं। इसके अलावा फ्री-टू-यूज वेबसाइट पर भी विज्ञापन डाला जा सकता है। साथ ही अखबारों के क्लासिफाइड की मदद भी ली जात सकती है। सोशल मीडिया हैंडल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इस काम से आय का दायरा भी व्यापक है।

फिक्स कमीशन पेमेंट होता है

यह हायरिंग के लेवल, इंडस्ट्री और हर महीने होने वाले रिक्रूटमेंट की संख्या पर निर्भर होता है। 1-3 साल के अनुभव वाले एंट्री लेवल के जॉब के लिए फिक्स कमीशन पेमेंट होता है। वहीं, बहुराष्ट्रीय कंपनियों में सीएक्सओ स्तर के पदों के लिए सीटीसी के 25 से 50 फीसदी तक कमीशन मिलता है। शुरुआत के लिए रिक्रूटमेंट एजेंसी का बैकग्राउंड जरूर देखना चाहिए। साथ ही इसके मालिकों की जानकारी भी लेनी चाहिए।

किसी भी उम्र में शुरुआत संभव
वर्कऑइड के को फाउंडररुचिका भारद्वाज और अमित गुप्ता कहते हैं किइस पेशे में किसी भी उम्र में शुरुआत की जा सकती है। बस आपके पास ध्यान देने की क्षमता, कंप्यूटर का ज्ञान और फोन पर बात करने का तरीका होना चाहिए। यह काम आपके कम्युनिकेशन स्किल को बेहतर करता है। साथ ही यह महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने में मदद देता है। महिलाएं इस के जरिए खुद को रीडिस्कवर कर सकती हैं, जो किसी भी बाहरी सुंदरता से ज्यादा महत्वपूर्ण है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Broadband connection, a smartphone, good communication skills and the ability to run a computer can provide jobs for woman


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2CuqW85
via IFTTT

Post a comment

0 Comments