सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर सुदाम शैलार से जानें क्रॉलिंग, ग्रेपलिंग और डक वॉकिंग जैसे महिलाओं की पसंद बनने वाले नए वर्कआउट के बारे में जो लॉकडाउन में डेली एक्सरसाइज का हिस्सा बने

महिलाओं को पसंद आने वाले वर्कआउट का रूप बदल रहा है। स्क्वाट, लंजेस, बैंड एक्सरसाइज , ट्विस्ट, पुश अप्स और पुल अप्स पर आधारित कुछ नए वर्कआउट का ट्रेंड लॉकडाउन के दौरान और इसके बाद भी जारी है। इनसे न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक सक्रियता भी बढ़ती है। वर्कआउट के नए तरीकों और वेरिएशन के बारे में बता रहे हैं सेलिब्रिटी फिटनेस ट्रेनर सुदाम शैलार।

कम समय में पूरा फायदा
फिट रहने के लिए नए-नए वर्कआउट को पसंद करने वाली महिलाओं के बीच जो एक्सरसाइज पॉपुलर हैं, उनमें क्रॉलिंग, ग्रेपिलंग और डक वॉकिंग शामिल हैं। दरअसल क्रॉलिंग एक ऐसा वर्कआउट है जो जंपिंग, रनिंग, क्लाइंबिंग और हैंगिंग की तरह ही पसंद किया जाता है। इसी तरह ग्रेपलिंग और डक वॉकिंग के लिए आपको ज्यादा समय निकालने की जरूरत नहीं पड़ती।दिन में अगर आपके पास 10 मिनिट का भी समय है तो इस वर्कआउट को करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

सेल्फ डिफेंस के लिए फायदेमंद
क्रॉलिंग से लेकर डक वॉकिंग और लियोपार्ड क्रॉलिंग तक इन एक्सरसाइज को करने से शरीर के हर हिस्से को फायदा होता है। जो महिलाएं नियमित रूप से इन वर्कआउट को करती हैं, उनकी मसल्स मजबूत होती हैं और चोट लगने की आशंका कम हाेती है। शरीर का बैलेंस बेहतर बनाए रखने के लिए भी इस तरह के व्यायाम लाभकारी होते हैं। ग्रेपलिंग जैसे वर्कआउट का महत्व फिटनेस के साथ ही सेल्फ डिफेंस के लिए भी है। इसलिए लड़कियां इसे सीखना खूब पसंद कर रहीहैं। इससे फोकस बढ़ता है और तनाव दूर होने लगता है।

ग्रुप वर्कआउट आ रहा पसंद
हाई एनर्जी पसंद करने वाली गर्ल्स के बीच पाइलॉक्सिंग जैसे वर्कआउट का क्रेज है। वहीं बोकवा साउथ अफ्रीकन स्टाइल एरोबिक डांस वर्कआउट है। इसे कॉलेज स्टूडेंट्स को करते हुए सबसे ज्यादा देखा जाता है। इसी तरह हाई इंटेंसिटी कार्डियो और लोअर बॉडी के लिए कोर एक्सरसाइज पसंद करने वाली युवतियां कटामी जैसे वर्कआउट को अपने फिटनेस रिजीम का हिस्सा बना रही हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
know about new workouts for woman from celebrity fitness trainer Sudam Shailar likes crawling, grappling and duck walking


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eTOXDf
via IFTTT

Post a comment

0 Comments