अनुवाद कर कैसे आत्मनिर्भरता हासिल कर सकती हैं महिलाएं जानिए सुम्मा लिंगुआ टेक्नोलॉजीस की एमडी मधु सुंदरमूर्ति से

आज हम उन किताबों को पढ़ सकते हैं, जो मूलतः उन भाषाओं में लिखी गई होती हैं जिन्हें हम नहीं जानते। हम रविवार की दोपहर हैरी पॉटर सीरीज की फिल्में हिन्दी, तमिल, जर्मन या जापानी में देखते हुए बिता सकते हैं।

साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त हम किसी प्रोडक्ट का डिस्क्रिप्शन अपनी पसंद की भाषा में पढ़ सकते हैं। हाउस आंत्रप्रेन्योर औरसुम्मा लिंगुआ टेक्नोलॉजीसकी एमडीमधु सुंदरमूर्ति बता रही हैं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने का आसान तरीका।

आपको क्या लगता है? यह सब किनकी बदौलत मुमकिन है? ये कोई और नहीं, बल्कि अनुवादक होते हैं। अनुवादक यानी बहुभाषी विशेषज्ञ जो एक भाषा के कंटेंट को दूसरी भाषा में बदलने का जादू जानते हैं। लेकिन अनुवाद का छिपा हुआ जादुई पहलू यह है कि यह घरेलू महिलाओं के लिए भी वित्तीय आत्मनिर्भरता प्रदान करता है।


दुनियाभर के 70 फीसदी अनुवादक फ्रीलांसर होते हैं। 60 फीसदी से ज्यादा फ्रीलांसर महिलाएं हैं। ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स (बीएलएस) के मुताबिक वर्ष 2026 तक इंटरप्रेटर और ट्रांसलेटर का जॉब 18 फीसदी की तेज दर से बढ़ेगा।

अगर आप एक से अधिक भाषाओं (भारतीय या विदेशी) में धाराप्रवाह हैं और आपके पास किसी भाषा की डिग्री है तो आपने पहले ही फ्रीलांसर बनने की ओर एक कदम बढ़ा लिया है। आप ऑनलाइन अपनी कुशलता को और निखार सकती हैं। छोटे प्रोजेक्ट पर काम कर आप अपनी कुशलता को परख भी सकती हैं।

अगर आप किसी विषयविशेष (इंजीनियरिंग, आर्ट आदि) में विशेषज्ञता रखती हैं और दो या ज्यादा भाषाओं में धाराप्रवाह हैं तो आप एडिटिंग और प्रूफ-रीडिंग सेवाएं देने वाली सब्जेक्ट मैटर एक्सपर्ट भी बन सकती हैं।

मोबाइल टेक्नोलॉजी और इंटरनेट बूम ने घरेलू महिलाओं के लिए प्रोफेशनल्स के इस समूह में शामिल होने को आसान बना दिया है। आप सिर्फ अपने फोन से अनुवाद का काम शुरू कर सकती हैं।

लैपटॉप और इंटरनेट हो तो आप अपने इस पैशन को प्रोफेशन भी बना सकती हैं। आमतौर पर घर से ट्रांसलेशन का काम करने वाले रोजाना 5-6 घंटे काम करते हैं। शुरुआत 1000 शब्द प्रति दिन से कर सकते हैं। अनुभवी अनुवादक एक दिन में 2500 शब्द तक ट्रांसलेट कर लेते हैं।


अगर आप अनुवादक बनना चाहती हैं तो खुद को प्रोज, ट्रांसलेटर्स कैफे और अपवर्क जैसी वेबसाइट पर जरूर रजिस्टर कराएं। फेसबुक, लिंक्डइन और ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म से काम के अवसर तलाशे जा सकते हैं।

मधु के अनुसारट्रांसलेशन के जरिए शुरुआत में 5 से 10 हजार रु महीने कमाए जा सकते हैं। अनुभवी अनुवादक तो एक दिन में कुछ हजार रुपए और कुछ घंटे में कुछ सौ रुपए कमा लेते हैं।

अगर आप इस पेशे में आगे जाना चाहतीहैं तो कैट टूल, सबटाइटिल सॉफ्टवेयर में निवेश अच्छा फैसला हो सकता है। आप अन्य भाषायी सेवाएं मसलन इंटरप्रेटेशन सर्विस, स्पीच डेटा कलेक्शन जैसे काम भी अपना सकती हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Know how women can achieve self-reliance by translating from Madhu Sundaramurthy, MD, Summa Lingua Technologies


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3h5B8DO
via IFTTT

Post a comment

0 Comments