गीता के इन 5 अनमोल वचन में छिपा हैं सफलता की कुंजी का राज, रहेंगे हमेशा खुशहाल

गीता उपदेश Image Source : INSTAGRAM/_O_KRISHNA

श्रीमद्भगवतगीता में जो भी उपदेश दिए गए हैं हर एक वचन में जीवन का एक सार छिपा हुआ है। जिस व्यक्ति ने इसे जान लिया वहीं व्यक्ति हमेशा सफलताओं की सीढ़ी में चढ़ता चला जाता है। गीता के इन वचनों के बारे में हर एक व्यक्ति को जानना बहुत ही जरूरी हैं तभी इंसान सही राह में चलकर खुशहाल जीवन जी सकता है। इसी क्रम में हम आज आपको बताने जा रहे हैं गीता के 5 अनमोल वचन जिन्हें जानकर आप हर परेशानियों से आराम से निकल सकते हैं। 

बिना वजह संदेह करना

गीता के उपदेश में बताया गया है कि जो व्यक्ति बिना किसी वजह के संदेह करता है वह कभी भी खुश नहीं रह सकता है। इसके साथ ही उसके रिश्तों में भी कडवाहट का बीज उत्पन्न हो जाता हैं। इसलिए इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि किसी के ऊपर बिना बात के संदेह न करें। 

मनुष्य की वाणी में छिपी हैं ये दो चीजें, कंट्रोल न किया तो सब कुछ कर देगी तबाह

बुद्धिमान व्यक्ति करें ये काम

गीता में कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति बुद्धिमान है तो इसे इसे नेक काम में खर्च करनी चाहिए। इससे आप बिना स्वार्थ के समाज की भलाई कर सकते हैं। जिससे आपका मान सम्मान भी बढ़ेगा।

इस चीज में न करें शोक

गीता में कहा गया है कि जिस व्यक्ति का जन्म हुआ है उसकी मृत्यु निश्चित है। इसलिए इस बात का शोक या पछतावा करना व्यर्थ है। 

स्वभाव के विपरीत काम करने पर मनुष्य को भुगतना पड़ता है ये अंजाम, कई बार कोशिश करने पर भी होता है यही हश्र

भगवान को प्राप्ति का मार्ग

गीता के उपदेश में कहा गया है कि जो व्यक्ति भगवान को याद करते अपने प्राण त्याग देता है। इसे सीधे भगवान का धाम प्राप्त होता है। 

ये है नरक के 3 द्वार

गीता के उपदेश में नरक के 3 द्वार के बारे में बताया गया है जोकि है वासना, गुस्सा और लालच। अगर आप हमेशा खुश रहना चाहते हैं तो इन तीनों चीजों से दूरी बनाना ही आपके लिए बेहतर होगा। 

दो नासमझ व्यक्तियों की दोस्ती हो जाए तो ये होता है, सफल जीवन की कुंजी का राज छिपा है चाणक्य की इस नीति में



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/3f5Ujfc
via IFTTT

Post a comment

0 Comments