वैनायकी चतुर्थी व्रत: गणपति देंगे समृद्धि का वरदान, इन उपायों से होगी करियर की समस्या दूर

वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत:  गणपति देंगे समृद्धि का वरदान, इन उपायों से होगी करियर की समस्या दूर Image Source : INSTAGRAM/BAPPAMORYAARE

श्रावण शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि और शुक्रवार का दिन है। चतुर्थी तिथि दोपहर 2 बजकर 35 मिनट तक रहेगी। उसके बाद पंचमी तिथि लग जायेगी। इसके साथ ही वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत है। ये व्रत हर माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को किया जाता है। हमारी संस्कृति में गणेश जी को प्रथम पूजनीय का दर्जा दिया गया है। किसी भी देवी-देवता की पूजा से पहले भगवान श्री गणेश की पूजा का ही विधान है।

भगवान श्री गणेश को बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के देवता के रूप में पूजा जाता है। आज के दिन गणेश जी की उपासना शीघ्र फलदायी मानी गयी है और इस दिन गणेश जी के निमित्त व्रत करने से व्यक्ति की समस्त इच्छाओं की पूर्ति होती है। साथ ही हर तरह के संकटों से छुटकारा मिलता है, ज्ञान की प्राप्ति होती है और धन-संपत्ति में भी बढ़ोतरी होती है और दूसरी तरफ जीवन में चल रही हर तरह की परेशानियों से भी छुटकारा मिलता है।  जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से इन उपायों के बारे में। 

सुबह 8 बजकर  58 मिनट तक वरीयान योग रहेगा। उसके बाद परिघ योग लग जायेगा। इस योग में कोई मंगलदायक कार्य करने से उसमे निश्तिच ही सफलता मिलती है। वहीं परिघ योग में शत्रु के विरूद्ध किए गए कार्य में सफलता मिलती है अर्थात शत्रु पर विजय अवश्य मिलती है।  इसके साथ ही शाम 4 बजकर 3 मिनट तक पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र रहेगा। नक्षत्रों की श्रेणी में पूर्वाफाल्गुनी ग्यारहवां नक्षत्र है। पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र की राशि सिंह है और इसके स्वामी शुक्राचार्य हैं।  

  •  अगर आप कुछ दिनों से अपने करियर संबंधी किसी बात को लेकर परेशान हैं, तो आज के दिन सुबह के समय स्नान आदि के बाद आपको श्री गणेश भगवान की विधि-पूर्वक पूजा करनी चाहिए और शाम के समय चंद्रदेव को अर्घ्य देना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपकी करियर संबंधी परेशानी जल्द ही दूर होगी। 
  • अगर आप खेल के क्षेत्र से जुड़े हैं और जीवन में खूब आगे बढ़ना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको श्री गणेश भगवान के शक्तिविनायक गणपति मंत्र का एक माला यानि 108 बार जप करना चाहिए। मंत्र है -"ऊँ ह्रीं ग्रीं ह्रीं" आपको बता दूं कि श्री गणेश भगवान के मंत्र जप के लिये लाल चन्दन की माला सर्वश्रेष्ठ बतायी गयी है। लाल चन्दन की माला न होने पर आप मूंगा, श्वेत चन्दन, स्फटिक या रुद्राक्ष की माला पर भी जप कर सकते हैं। 
  • अगर आप अपने दाम्पत्य संबंधों की डोर को मजबूत बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको एक डिब्बी में थोड़ा-सा सिंदूर लेकर, उसमें एक रुपये का सिक्का रखकर श्री गणेश भगवान के चरणों में रखना चाहिए और अपने संबंधों के लिये भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपके दाम्पत्य संबंधों की डोर मजबूत बनी रहेगी। 
  • अगर आप अपने दाम्पत्य संबंधों की डोर को मजबूत बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको एक डिब्बी में थोड़ा-सा सिंदूर लेकर, उसमें एक रुपये का सिक्का रखकर श्री गणेश भगवान के चरणों में रखना चाहिए और अपने संबंधों के लिये भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपके दाम्पत्य संबंधों की डोर मजबूत बनी रहेगी। 
  • अगर आपके मन में कोई ऐसी निगेटिव बात बैठ गई है, जिसके बारे में आप हमेशा सोचते रहते हैं, तो ऐसी स्थिति से छुटकारा पाने के लिये आज के दिन आपको एक पान के पत्ते पर दो सुपारी और दो लौंग के जोड़े रखकर, उसे कलावे से बांधकर श्री गणेश भगवान को अर्पित करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपको किसी भी तरह की निगेटिव स्थिति से जल्द ही छुटकारा मिलेगा। 

राशिफल 24 जुलाई: कुंभ राशि वालों को अचानक मिलेगा धन लाभ का मौका, जानें बाकी राशियों का कैसा रहेगा हाल

  • अगर बिजनेस में बहुत कोशिशों के बाद भी आपको मनचाहा लाभ नहीं मिल पा रहा है, तो आज के दिन आपको एक दूर्वा की गांठ लेकर, उस पर 11 बार मौली या कलावा लपेटना चाहिए और श्री गणेश भगवान को चढ़ाना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपको बिजनेस में मनचाहा लाभ मिलेगा। 
  •  अगर आपकी संतान के जीवन में किसी प्रकार की परेशानी चल रही है, तो आज के दिन आपको श्री गणेश भगवान के आगे प्रणाम करके संकटनाशन गणेश स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपकी संतान को हर तरह की परेशानी से छुटकारा मिलेगा।  
  • अगर आप अपनी स्मरण शक्ति मजबूत करना0चाहते हैं, तो आज के दिन सुबह गणेश पूजा के समय आपको अपने दाहिने हाथ की अनामिका उंगली, यानी तीसरी उंगली से श्री गणेश भगवान को केसर का तिलक लगाना चाहिए और उसके बाद स्वयं भी अपने मस्तक पर केसर का तिलक लगाना चाहिए, लेकिन यहां ध्यान रहे कि स्वयं को तिलक लगाते समय मध्यमा उंगली का उपयोग करें, क्योंकि मनुष्यों के लिये मध्यमा उंगली से, जबकि भगवान के लिये अनामिका उंगली से तिलक लगाने की बात कही गयी है। 

मनुष्य का ये एक गुण जीवन को बना सकता है अच्छा और बुरा, तोल-मोल के इस्तेमाल करने में ही समझदारी

  • अगर आप बहुत दिनों से अधूरी पड़ी अपनी कोई हार्दिक  इच्छा पूरी करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको दो मिट्टी के दीपक लेने चाहिए और उनमें से एक दीपक में घी डालकर सफेद खड़ी बत्ती लगानी चाहिए और दूसरे दीपक में तिल का तेल डालकर लाल पड़ी हुई बत्ती लगानी चाहिए। अब घी के दीपक को जलाकर गणेश भगवान की प्रतिमा के दाहिने हाथ की तरफ रखना चाहिए और तेल के दीपक को प्रतिमा के बायीं तरफ रखना चाहिए। घी का दीपक देवताओं के लिये होता है, जबकि तेल का दीपक साधक की कामनाओं के लिये होता है। आज के दिन ये उपाय करने से आपकी इच्छा जरूर पूरी होगी। 
  • अगर आप अपने परिवार की एकता को बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको अपने परिवार के सदस्यों की संख्या के आधार पर, सबके नाम का एक-एक गुड़हल या कोई लाल फूल लेना चाहिए और सबको एक साथ गणेश भगवान को अर्पित करना चाहिए और उनके चरण छूकर आशीर्वाद लेना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपके परिवार की एकता बनी रहेगी। 


from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/3eWcF1x
via IFTTT

Post a comment

0 Comments