वास्तु टिप्स: हर रंग कुछ कहता है, जानें वास्तु शास्त्र में किस रंग का होता है क्या मतलब

रंग Image Source : INSTAGRAM/ZAORYART

वास्तु शास्त्र में आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए विभिन्न रंगों के महत्व के बारे में। विभिन्न रंग अलग-अलग चीजों के प्रतीक हैं, साथ ही उनके अलग-अलग प्रयोग भी हैं। इसलिए मैं आपको उन अलग-अलग रंगों के बारे में बता रहा हूं, ताकि आप सही काम के लिये और सही जगह के लिये सही रंग का चुनाव कर सकें। 

सबसे पहले बात करते हैं पीले रंग की। पीला रंग गुरुत्व का प्रतीक है। यह बौद्धिक क्षमता को बढ़ाता है और गठिया रोग में भी यह रंग लाभप्रद है। वहीं हरा रंग शांत प्रवृत्ति और खुशहाली का प्रतीक है। यह रंग हृदय रोग में भी सहायक है। लाल रंग की बात करें तो यह एक उत्तेजक रंग है और लो ब्लैड प्रेशर को ठीक रखने में सहायक है। जबकि गुलाबी रंग शारीरिक कष्टों को कम करता है। कमजोरी और कब्ज में इस रंग को सहायक माना गया है। 

अन्य खबरों के लिए करें क्लिक

वास्तु टिप्स: घर में शंख रखने से वास्तु दोष से मिलता है छुटकारा, धन-संपदा में होती है बरकत

वास्तु टिप्स: इस दिशा में ही रखना चाहिए घर का भारी सामान, बनी रहती है पॉजिटिव एनर्जी

वास्तु टिप्स: इस दिशा में घर के ड्राइंगरूम में रखना चाहिए फर्नीचर, मिलता है शुभ परिणाम

वास्तु टिप्स: त्रिकोणाकार भूमि से होती है पुत्र की हानि, जानें बाकी भूमि की आकृतियों के बारे में

वास्तु टिप्स: घर के लिए इस आकृति की खरीदें भूमि, गलत चुनाव बिगाड़ सकता है सारे काम



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/2ZOyhsi
via IFTTT

Post a comment

0 Comments