लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने पर विचार करेगी भारत सरकार, 1 लाख नए एनसीसी कैडेट में शामिल होंगी एक तिहाई बेटियां

74 वें स्वतंत्रता दिवस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लड़कियों की शादी की न्यूनतम आयु पर फिर से विचार करने की बात कही है। अब लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 की जा सकती है। इससे लड़कियों के जीवन में कई बदलाव आएंगे।

पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर कहा कि हमने अपनी बेटियों की शादी के लिए न्यूनतम आयु पर पुनर्विचार करने के लिए समिति का गठन किया है। समिति द्वारा अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद हम उचित निर्णय लेंगे।नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में भारत सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर जोर देने और महिलाओं की उपलब्धि की बात भी कही।

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि देश के जो 40 करोड़ जनधन खाते खुले हैं उनमें से 22 करोड़ खाते महिलाओं के हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मोदी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली 5 करोड़ महिलाओं को सैनिटरी पैड्स उपलब्ध कराएं हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ''हमने अनुभव किया है जब भी महिलाओं को अवसर मिला, उन्होंने भारत को गौरवान्वित किया और इसे मजबूत बनाया। आज देश उन्हें रोजगार के समान अवसर प्रदान कर रहा है। आज महिलाएं कोयला खदानों में काम कर रही हैं, हमारी बेटियां लड़ाकू विमान उड़ाते हुए आसमान को छू रही हैं''।

पीएम मोदी ने एनसीसी में लड़कियों को और बढ़ावा देने पर जोर दिया है। प्रधानमंत्री ने इस दौरान एनसीसी के विस्तार की भी बात कही है। उनके अनुसार एक लाख एनसीसी कैडेट को स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी, जिसमें एक तिहाई लड़कियां भी शामिल हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Government of India will consider increasing the marriage age of girls, one third daughters will join 1 lakh new NCC cadets


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Y4PlsO
via IFTTT

Post a comment

0 Comments