103 साल की उम्र में डोरोथी को चढ़ा विशलिस्ट पूरी करने का शौक, टैटू बनवाने से लेकर बाइक राइडिंग तक पूरी की हर ख्वाहिश

मिशिगन में रहने वाली 103 वर्षीय डोरोथी पोलाक कोरोना के इलाज के लिए कई महीने अस्पताल में भर्ती रहीं। अस्पताल में रहते हुए उन्होंने दिली ख्वाहिशें पूरी करने वाली लिस्ट बना रखी थी जिसमें टैटू प्रेम भी शामिल था।

एक महीने तक आइसोलेशन में रहने के बाद जब वे घर आईं तो उन्होंने अपने हाथ पर टैटू बनवाया। उनकी विश लिस्ट में मोटर साइकिल राइड भी शामिल थी। डोरोथी ने टैटू बनवाने के बाद उसी दिन मोटर साइकिल पर राइड भी की।

डोरोथी अपनी बेटी के साथ रहती थीं। लेकिन जब उनकी बेटी लंबी बीमारी के बाद इस दुनिया में नहीं रहीं उनकी मुश्किलें बढ़ी। इसी बीच कोरोना का प्रकोप बढ़ने पर वे भी कोरोना पॉजिटिव पाई गईं।

डोरोथी के लिए आइसोलेशन किसी जेल से कम साबित नहीं हुआ। उन्हें कानों से सुनाई कम देता है। इसलिए अस्पताल में रहने के दौरान वे मोबाइल पर किसी से बात भी नहीं कर पाईं। जून में डोरोथी ने अपना 103 वां बर्थडे मनाया। तब उनकी पोती जेविट्स जोंस उन्हें अपने घर ले आई। तब डोरोथी ने जेविट्स के सामने अपनी फेवरेट ग्रीन फ्रॉग का टैटू बनवाने की मर्जी जाहिर की।

पोलक ने एक टैटू पार्लर में बैठकर बड़े आराम से अपने टैटू के शौक को पूरा किया। डोरोथी को मेंढक हमेशा से पसंद रहे हैं। उनके घर में मेंढक की डिजाइन वाले कई कंटेनर्स हैं। वे इस डिजाइन वाली कई ज्वेलरी भी पहनना पसंद करती हैं।
पोलक ने टैटू बनवाते समय एक बार भी अपना हाथ नहीं हिलाया ताकि परफेक्ट टैटू बन सके। अपने हाथ की कोहनी के नीचे बनवाए इस टैटू को देखकर वे काफी खुश हैं। वे कहती हैं मुझे इसे टैटू को बनवाने में बिल्कुल दर्द नहीं हुआ।

जेविट्स को इस बात की खुशी है कि उसकी दादी को ये टैटू पसंद आया। वे कहती हैं दादी से जब भी कोई मिलने आता है तो वे इस टैटू को दिखाते हुए गर्व महसूस करती हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Dorothy was fond of completing a wishlist at the age of 103, from tattooing to bike riding, every wish to fulfill


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3g2upca
via IFTTT

Post a comment

0 Comments