मिलिंद सोमण से ट्विटर यूजर से पूछा - ''लोग इस बात की इतनी परवाह क्यों करते हैं कि लोग क्या कहेंगे''महिलाओं ने दिए इस दिलचस्प सवाल के मजेदार जवाब

दुनिया का सबसे बड़ा रोग, क्या कहेंगे लोग, ये बात इंडियंस को एक दूसरे से कहते हुए अक्सर सुना जाता है। खासतौर से उस वक्त जब आप कोई ऐसा काम करते हैं जो समाज में उचित नहीं समझा जाता। जैसे पढ़ाई पूरी नहीं करना, समय से शादी न करना या करिअर में सफल न होना।

लोग क्या कहेंगे, इस सवाल को सोशल मीडिया के माध्यम से एक बार फिर लोगों के सामने लेकर आए हैं एक्टर और मॉडल मिलिंद सोमण। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा-लोगों के विचार हमारे लिए क्यों मायने रखते हैं।

उनके इस सवाल पर लोगों ने तरह-तरह के जवाब दिए। कई लोगों ने अपने ट्विटर के माध्यम से यह भी कहा कि हम दूसरों के बारे में सोचकर इतना क्यों डरते हैं।

##

एक ट्विटर यूजर पल्लवी ने ट्विट किया - ''हर आवाज मायने रखती है! यही डेमोक्रेटिक रिपब्लिक की खूबसूरती है। यहां तक ​​कि गूंगे से गूंगा और अक्लमंद से ज्यादा अक्लमंद भी खुद को व्यक्त करता है। "मुझे खुशी है कि मैं बोलती हूं और चुप नहीं रहती। वहीं दूसरे लोग भी हैं। "बेवकूफ लोग अपने चापलूसी भाषणों से खुश होते हैं, वहीं एक समझदार इंसान खामोश रहकर मुस्कुराता है"।

##

मनाली रेड्‌डी ने ट्विट किया - ''हम सामाजिक और राजनीतिक प्राणी हैं जो समूह या जनजातियों में रहते हैं। हम विभिन्न कारणों से एक-दूसरे पर निर्भर हैं। इसलिए लोगों की राय महत्वपूर्ण है। यह तय करने में मदद करता है कि हमें किसके साथ रहना चाहिए और हमारी भलाई किससे दूर रहने में है''।

##

सांची शुक्ला अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखती हैं - ''क्योंकि यही बातें मीडिया, मॉडलिंग और फिल्मों में लोगों की आय का जरिया हैं''।

##

चारू पोखरियाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए लिखा -'' मुझे लगता है कि इसकी एक विकासवादी व्याख्या है ... हम हमारे साथ आने वाली मुश्किलों को बयां करते हैं। जिसे अधिकांश लोग सच मानते हैं। हम भीड़ से दूर नहीं रहना चाहते हैं और अनिश्चितता या आपदाओं का सामना करना चाहते हैं। इसलिए हम लोगों की राय लेते हैं''।

##

एक ट्विटर यूजर ने अपनी राय देते हुए कहा - ''सिर्फ इस बात को समझने की जरूरत है कि हमें क्या चाहिए। हमारी खुद की राय ही काफी है क्योंकि उस काम को हमें ही करना है। तो दूसरों की बात क्यों सुनें। .... वे सभी धन्य हैं''।

##

एकता शाह ट्विटर के जरिये अपनी बात कहते हुए लिखती हैं - ''सुनो सबकी, करो अपनी''।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Milind Soman asked Twitter user - "Why do people care so much about what people will say?" Women gave funny answers to this interesting question


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Emjpt6
via IFTTT

Post a comment

0 Comments