तमिलनाडु के सेथुरमन शादी के 48 साल में एक दिन भी नहीं रहे पत्नी के बिना, उनके इस दुनिया से चले जाने के बाद भी मूर्ति बनवाई ताकि हमेशा रहें साथ

तमिलनाडु के एक बिजनेसमेन ने अपनी दिवंगत पत्नी की याद में मूर्ति बनवाई। उन्होंने इस मूर्ति को सोशल मीडिया पर शेयर किया जिसकी खूब तारीफ हो रही है।

इस बिजनेसमेन का नाम सेथुरमन है जो मदुरैई में रहते हैं। कुछ दिनों पहले ही उनकी पत्नी पिछईमनिम्मल इस दुनिया में नहीं रहीं। पत्नी को गुजरे हुए अभी एक महीना भी नहीं हुआ था और सेथुरमन ने उसकी याद में इस स्कल्पचर को बनवाया।

उस मूर्ति के जरिये सेथुरमन ने पत्नी के गुजर जाने के बाद जिंदगी में आए खालीपन को भरने की कोशिश की है। कुर्सी पर बैठी उनकी पत्नी की मूर्ति को उनके निधन के बाद होने वाली रस्मों के समय पर घर लाया गया था।

सेथुरमन का कहना है कि ''उनकी शादी को 48 साल हो गए। इतने सालों में वे एक दिन भी पत्नी से बिना मिले नहीं रहे''। पिछईमनिम्मल के इस दुनिया से चले जाने के बाद उनके लिए अकेले रहना मुश्किल हो गया। तब उन्होंने पत्नी की याद में इस मूर्ति को बनवाने के बारे में सोचा। इसे उन्होंने अपने घर में पूरे सम्मान के साथ स्थापित किया।

सेथुरमन को मूर्ति बनवाने की प्रेरणा कर्नाटक के एक व्यक्ति द्वारा कुछ दिनों पहले इसी तरह की मूर्ति बनवाने से मिली। उन्होंने बताया कि जब मैं उस मूर्तिकार के पास गया तो उसने इसे बनाने से मना कर दिया।

उसके बाद विल्लुपुरम के रहने वाले एक मूर्तिकार प्रसन्ना इसे बनाने के लिए राजी हुए। लगभग 6 फीट ऊंची इस मूर्ति को प्रसन्ना ने एक महीने से भी कम समय में बना दिया। इसे बनाने में फाइबर ग्लास और रबर का इस्तेमाल किया गया है। मदुरैई के एक पेंटर ने इसे फिनिशंग टच दिया।

सेथुरमन ने हेल्थ इंस्पेक्टर के तौर पर अपने करिअर की शुरुआत की थी। लेकिन अपनी पत्नी के कहने पर सरकारी नौकरी छोड़ दी और मदुरैई में खुद का ब्लड बैंक खोला। सेथुरमन के अनुसार, ''जिंदगी में जब भी मुश्किल आईं, मेरी पत्नी ने हमेशा मेरा साथ दिया''।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sethuraman of Tamilnadu has not lived a single day in 48 years of marriage, without wife


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33e2Ub4
via IFTTT

Post a comment

0 Comments