मणिपुर की बिजयलक्ष्मी कमल के फूलों के डंठल से धागे बना रहीं, वे उन महिलाओं को रोजगार दे रही हैं जिनके पास कोरोना के चलते काम नहीं है

कोरोनावायरस महामारी ने लोगों की आजीविका को बुरी तरह से प्रभावित किया है जिसके चलते दुनिया भर में लाखों युवा बेरोजगार हैं। संकट के इस समय में ऐसे कई युवा हैं जो काम के नए-नए तरीके खोज रहे हैं।

ऐसा ही एक तरीका 27 साल की बिजयलक्ष्मी टोंगब्रम ने भी खोजा है। वे कमल के फूलों के डंठल से धागे बनाकर रोजगार के अवसर तलाश रही हैं।

बिजयशांति टोंगब्रम अपनी छोटी सी टीम के साथ यह काम कर रही हैं। उन्हें इस काम का आइडिया एक बुजुर्ग महिला से मिला। फिर उन्होंने खुद इस बारे में पता लगाया कि कमल के डंठल से आखिर कैसे धागा बनाया जा सकता है।

कमल के फूलों के डंठल से धागा बनाने से पहले वे कमल के फूलों की चाय भी बना चुकी हैं। उनका चाय वाला प्रयोग सफल होने के बाद एक बार फिर वे इन फूलों का उपयोग धागा बनाने के लिए कर रही हैं।

वे चाहती हैं सरकार इस स्टार्ट अप आइडिया को आगे बढ़ाने में उनकी मदद करे ताकि वे अधिक से अधिक महिलाओं को इस काम के जरिये रोजगार मुहैया करा सकें।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Bijayalakshmi of Manipur is making threads from lotus flower stalks, through this work she is giving employment to women who do not have work due to corona


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33lRQst
via IFTTT

Post a comment

0 Comments