46 वर्षीय लंग कैंसर सर्वाइवर जोनिता की कहानी, वे चाहती हैं कि उनके बारे में जानकर कैंसर पेशेंट अपनी इच्छाशक्ति के बल पर इस बीमारी को हराएं

जोनिता सेगुरा 47 वर्षीय महिला और दो बच्चों की मां हैं। वे एक सर्टिफाइड ट्रेनर हैं और खुद को क्रॉस फिट दीवा मानती हैं। उन्हें कैंसर का पता उस वक्त चला जब इस महिला ने खुद का क्रॉस फिट स्टूडियो खोला। उस वक्त वे जिंदगी के मुश्किल दौर से गुजर रहीं थीं। जोनिता के डॉक्टर ने उन्हें फौरन कीमोथैरेपी और रेडिएशन की सलाह दी। इस ट्रीटमेंट से जोनिता की हालत में सुधार हुआ। वे कहती हैं किसी भी व्यक्ति को लंग कैंसर का पता चलते ही उसे जेनोमिक टेस्ट करवाना चाहिए।

इस बीमारी से जूझते हुए उनके परिवार ने उन्हें सबसे ज्यादा सपोर्ट दिया। इस महिला ने ओंकोलॉजी टीम द्वारा बताए गए ट्रीटमेंट को पूरी तरह फॉलो किया। वे इस बीमारी से उबरने की बहुत बड़ी वजह अपनी सकारात्मक सोच को मानती हैं। वे कहती हैं - ''आप जिस धर्म का आप पालन करते हैं, उसमें अपना विश्वास बनाए रखें। यही विश्वास आपको कैंसर जैसी बीमारियों से निजाते दिलाने में भी मदद करेगा''। जोनिता कैंसर को मात देने वाली महिलाओं में से एक हैं।

फिलहाल शिकागो के पास ग्रिफिन, इंडियाना में वे अपने क्रॉसफिट स्टूडियो से लोगों को फिटनेस के लिए प्रेरित करती हैं। लॉकडाउन के दौरान जोनिता ने अपने वर्कआउट वीडियो के जरिये लोगों को फिटनेस के लिए प्रेरित किया। घर में रहने वाली महिलाओं के लिए वे ऐसी एक्सरसाइज बताती हैं जो हल्का वार्म अप करने के बाद आसानी से की जा सकती हैं। इसे करने के लिए किसी तरह के इक्विपमेंट की जरूरत नहीं होती। वे अपनी सेहत का राज भी हर समय एक्टिव बने रहने को मानती हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The story of 46-year-old Lung Cancer Survivor Jonita, she wants cancer patients to know about her and beat the disease on the strength of their will


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2TZsqNe
via IFTTT

Post a comment

0 Comments